Hindi News ›   World ›   S Jaishankar hold discussion on ukraine crisis with Russian and American foreign ministers, said best way to solve crisis is dialogue and diplomacy

रूसी-अमेरिकी विदेश मंत्रियों से चर्चा : जयशंकर बोले- यूक्रेन संकट दूर करने का सबसे बेहतर तरीका संवाद और कूटनीति

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: योगेश साहू Updated Sat, 26 Feb 2022 01:35 AM IST

सार

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने यूक्रेन में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए रोमानिया, हंगरी और स्लोवाकिया के विदेश मंत्रियों से भी चर्चा की। बता दें, यूक्रेन द्वारा अपना हवाई क्षेत्र को बंद करने के बाद से भारत रोमानिया, हंगरी, स्लोवाक गणराज्य और पोलैंड की थल सीमा होकर 16,000 भारतीयों को निकालने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।
विदेश मंत्री एस जयशंकर
विदेश मंत्री एस जयशंकर - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने रूस और अमेरिकी विदेश मंत्रियों सर्गेई लावरोव और एंटनी ब्लिंकेन से फोन पर यूक्रेन संकट को लेकर अलग-अलग वार्ता की। जयशंकर ने लावरोव से अनुरोध किया कि मामले को हल करने के लिए संवाद और कूटनीति सबसे अच्छा तरीका है। बता दें, हमले की निंदा के बाद तनाव कम करने के समग्र वैश्विक प्रयासों के तहत भारत सभी संबंधित पक्षों के संपर्क में हैं। 
विज्ञापन


माना जा रहा है कि जयशंकर ने लावरोव को यूक्रेन से लगभग 16,000 भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए भारत के महत्व से अवगत करवाया था। एक अन्य ट्वीट में जयशंकर ने कहा, ब्लिंकन से यूक्रेन में चल रहे घटनाक्रम और इसके प्रभावों पर चर्चा हुई।


अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा, ब्लिंकेन ने जयशंकर से यूक्रेन पर रूस के पूर्व नियोजित, अकारण और अनुचित हमले पर बात की। जयशंकर ने यूरोपीय संघ के विदेश मामलों के उच्च प्रतिनिधि जोसेप बोरेल और ब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रस से भी यूक्रेन के मुद्दे पर बातचीत की।

रोमानिया, हंगरी और स्लोवाकिया से भी बातचीत
विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने यूक्रेन में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए रोमानिया, हंगरी और स्लोवाकिया के विदेश मंत्रियों से भी चर्चा की। बता दें, यूक्रेन द्वारा अपना हवाई क्षेत्र को बंद करने के बाद से भारत रोमानिया, हंगरी, स्लोवाक गणराज्य और पोलैंड की थल सीमा होकर 16,000 भारतीयों को निकालने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। जयशंकर ने मित्र देशों की तारीफ करते हुए कहा, मुश्किल वक्त में दोस्त ही साथ देते हैं। सभी देशों ने भारत का साथ निभाने का वादा किया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
YD |